Wednesday, August 10, 2022
Pilgrimageगंगोत्री : आस्था, पर्यटन और एडवेंचर का संगम

गंगोत्री : आस्था, पर्यटन और एडवेंचर का संगम

गंगोत्री

जैसा कि नाम से ही प्रतीत होता है यह स्थान पवित्र पावन ‘गंगा नदी’ के पृथ्वी पर अवतरण का स्थान है। पवित्र पावन गंगा को समर्पित यह मंदिर भागीरथी नदी के तट पर स्थित है। उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित गंगोत्री मंदिर मां गंगा के उद्गम स्थल गोमुख से 18 किलोमीटर की दूरी पर है।

- Advertisement -

समुद्र तल से 3042 मीटर की ऊँचाई पर स्थित बर्फ से ढकी हिमालय पर्वत की चोटियों से घिरा यह स्थान अत्यंत ही मनोरम है। प्रत्येक वर्ष मई से अक्टूबर के महीनों में श्रद्धालु यहां पवित्र पावन गंगा के दर्शनों के लिए आते हैं।

यात्रा का समय

हिमालय की तलहटी में स्थित होने के कारण सर्दियों में यहां पर खूब बर्फबारी होती है। इसीलिए गंगोत्री की यात्रा मई से लेकर अक्टूबर के मध्य में ही की जाती है। गंगोत्री के कपाट अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर श्रद्धालुओं के लिए खोले जाते हैं और दीपावली के दिन मंदिर के कपाट विधिवत पूजा पाठ के पश्चात बंद होते हैं।

प्रमुख दर्शनीय स्थल:

गंगोत्री की यात्रा अत्यंत रोमांचकारी और बेहद सुखद अनुभव प्रदान करने वाली होती है। गर्मियों के मौसम में जहां एक और पूरे भारतवर्ष में गर्मी का प्रकोप रहता है, वहीं दूसरी ओर यहां का मौसम बेहद ही खुशगवार और सुहावना होता है। 

धार्मिक यात्रा के साथ साथ गंगोत्री और इसके आसपास अनेकों पर्यटन स्थलों के दर्शन भी आसानी से किए जा सकते हैं। गंगोत्री स्थित गौरीकुंड के दिव्य दृश्य को देख कर दर्शक आनंद विभोर हो जाता है। गोमुख, मुखबा गांव, भैरो घाटी, हर्षिल नंदनवन तपोवन, गंगोत्री-चिरबासा, गंगोत्री-भोजबासा, केदारताल आदि यहां के निकटतम दर्शनीय स्थल है।

- Advertisement -

गंगोत्री से 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित गोमुख की यात्रा अत्यंत रोमांचकारी होती है। गंगोत्री से गोमुख की यात्रा पैदल या फिर ट्टटुओं पर सवार होकर पूरी की जाती है। माना जाता है कि गोमुख के बर्फीले पानी में स्नान करने से व्यक्ति के सभी पाप धुल जाते हैं। 

कैसे पहुंचे गंगोत्री?

गंगोत्री उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित है। उत्तरकाशी से गंगोत्री की दूरी लगभग 100 किलोमीटर है। हवाई मार्ग से गंगोत्री जाने के लिए निकटतम हवाई अड्डा जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है जो कि देहरादून में स्थित है। यहां से गंगोत्री की दूरी लगभग 226 किलोमीटर है। रेल मार्ग से गंगोत्री जाने के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन ऋषिकेश है।

- Advertisement -

गंगोत्री यात्रा के मार्ग में पर्यटकों के रहने और ठहरने के लिए पर्यटक आवास गृह भी आसानी से उपलब्ध हैं। वर्तमान में गंगोत्री और छोटा चार धाम यात्रा के लिए यात्रियों को पंजीयन (Registration) करना अनिवार्य होता है। उत्तराखंड पर्यटन विभाग द्वारा इसके लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा यात्रा मार्ग में भी यात्रियों के लिए पंजीयन (Registration) की व्यवस्था है।

Related Post