Monday, October 3, 2022
Informationउत्तरकाशी जिला: परिचय, प्रमुख आकर्षण एवं अन्य जानकरियाँ

उत्तरकाशी जिला: परिचय, प्रमुख आकर्षण एवं अन्य जानकरियाँ

उत्तरकाशी जिला :

भारत की पवित्र नदियों ‘गंगा’ और ‘यमुना’ के उद्गम स्थल के लिए विश्व विख्यात उत्तरकाशी जिला उत्तराखंड के गढ़वाल मंडल में स्थित है। यह स्थित जिला अत्यंत ही सुंदर और मनोरम है। यहां के बर्फीले पर्वत चोटियों, सुंदर घाटियों और धार्मिक स्थलों के दर्शन करना बेहद ही आनंददायी होता है।

उत्तरकाशी जिले का सृजन 24 फरवरी 1960 में को हुआ. जिले का मुख्यालय उत्तरकाशी नगर में स्थित है। उत्तरकाशी ऋषिकेश से 154 किलोमीटर की दूरी पर ऋषिकेश- गंगोत्री मार्ग पर स्थित है।  ‘उत्तरकाशी’ उत्तर और काशी शब्द से मिलकर बना हुआ है। यानी यह स्थान वाराणसी (काशी) के ही समान है। वाराणसी और उत्तरकाशी ये दोनों ही स्थान गंगा नदी के तट पर बसे हुए हैं। वाराणसी की तरह ही यहां पर भगवान विश्वनाथ का मंदिर स्थापित है। इसके अलावा यहाँ पर वाराणसी के समान ही मणिकर्णिका घाट भी है।

पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण :  

जहां एक ओर पहाड़ों के बीच कल-कल करती नदियां मन को मोह लेती है वहीं दूसरी तरफ बर्फ की चादर ओढ़े पर्वत और हरे भरे घने जंगलों की सुंदरता देखते ही बनती है। धार्मिक दृष्टि से भी उत्तरकाशी जिला अत्यंत महत्वपूर्ण है। यहां पर विश्व प्रसिद्ध भगवान विश्वनाथ का मंदिर स्थापित हैं. गंगोत्री और यमुनोत्री जैसे धार्मिक स्थल भी उत्तरकाशी जिले में ही मौजूद हैं। प्रत्येक वर्ष  हजारों के संख्या में पर्यटक यहां आकर धार्मिक स्थलों के दर्शन और पर्यटन का आनंद लेते हैं।

पर्यटन स्थल:

प्रत्येक वर्ष लाखों की संख्या में श्रद्धालु और पर्यटक उत्तरकाशी आते हैं। लोग यहां पर धार्मिक स्थलों के भ्रमण के साथ-साथ ट्रैकिंग, कैंपिंग आदि का लुप्त उठाते हैं। गंगोत्री, यमुनोत्री, विश्वनाथ मंदिर, शक्ति मंदिर, मनेरी, गंगनानी, डोडिताल, दयारा बुग्याल, सातताल, नचिकेता ताल, गोमुख, नंदनवन-तपोवन यहां के प्रमुख आकर्षण है।

गंगोत्री धाम

- Advertisement -

गंगोत्री, गंगा नदी का उद्गम स्थल और उत्तराखंड के चार धाम में से एक है। जिस स्थान से गंगा निकलती है उसे गोमुख कहा जाता है जो कि गंगोत्री से 19 किमी की दूरी स्थित है. यह स्थान गंगोत्री ग्लेशियर में 13,200 फीट (4,023 मीटर) की ऊंचाई पर स्थित है. 

गोमुख से भागीरथी नदी का उद्गम होता है और देवप्रयाग के बाद से यह अलकनंदा में मिलती है, जहाँ से यह गंगा कहलाती है।

यमुनोत्री धाम

- Advertisement -

यमुनोत्री, यमुना नदी का स्रोत तथा उत्तराखंड के चार धाम तीर्थ में से एक है . यह उत्तरकाशी जिले में हिमालय श्रृंखला में  3,293 मीटर (10,804 फीट) की ऊंचाई पर स्थित है। यहाँ पर यमुना नदी के स्रोत यमुनोत्री का पवित्र मंदिर है, जो बंदर पूँछ पर्वत श्रृंखलाओं के ऊपर स्थित है।

डोडी ताल झील

डोडिताल झील समुद्र तल से 3,310 मीटर की ऊंचाई पर स्थित ताजा पानी की एक मनमोहक झील है। डोडिताल झील की सुंदरता और यहाँ की जैवविविधता को निहारना बेहद ही आनंदायक होता है। यह स्थान ट्रेकिंग के शौक़ीन लोगों के लिए बेहद ही आदर्श स्थान है। यहाँ जाने के लिए उत्तरकाशी से 19 किमी की दूरी सड़क मार्ग से तय करने के पश्चात संगमचट्टी पहुँचा जाता है। संगमचट्टी से डोडिताल तक का का सफ़र ट्रेकिंग के द्वारा तय किया जाता है।

दयारा बुग्याल

दयारा बुग्याल उत्तरकाशी में 2600 मीटर से लेकर 3500 मीटर की ऊँचाई पर स्थित घास की मैदान हैं। ये हरे भरे घास के मैदान पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र हैं। यहां से हिमालय पर्वत शृंखलाओं का मनमोहक, सुंदर नज़ारा दिखाई देता है। सर्दियों के मौसम में ये मैदान बर्फ़ की चादर से ढक जाते है। ये बर्फ़ के मैदान स्कीइंग तथा अन्य बर्फ़ से सम्बंधित खेलो के लिए भी आदर्श मैदान बन जाते हैं। पर्यटक लगभग 28 वर्ग किमी में फैले इस क्षेत्र में ढलानों पर स्कीइंग का आनंद लेते हैं।

उत्तरकाशी से निकटतम रेलवे स्टेशन ऋषिकेश (लगभग 100 किमी) है। नजदीकी हवाई अड्डा जॉली ग्रांट हवाई अड्डा देहरादून में स्थित है।

जनसांख्यिकी एवं अन्य जानकारी

जिला : उत्तरकाशीक्षेत्रफल : 8,016 Sq. Km
मुख्यालय : उत्तरकाशीजनसंख्या : 330,086
तहसील : 06पुरुष : 168,597
विकास खंड: 06महिला : 161,489
पुलिस स्टेशन : 07जनसंख्या घनत्व : 41
विधानसभा क्षेत्र : 03वेबसाइट : https://uttarkashi.nic.in/
- Advertisement -

Related Post